Search

Loading

Wednesday, April 2, 2014

केजरीवाल भाजपा में आना चाहते हैं


आम आदमी पार्टी के नेता अरविन्द केजरीवाल अब भाजपा में आना चाहते हैं. उन्होंने ये बात दिल्ली में एक रोड शो के दौरान कही. अब भाजपा नेतृतव को ये निर्णय करना है कि वो केजरीवाल को अपने दल में शामिल करना चाहते हैं या नहीं।

केजरीवाल के दिल्ली कि सत्ता छोड़ भाग जाने के निर्णय का दिल्ली कि जनता ने आज जैम कर विरोध किया। आज उन्हें काले झंडे भी दिखाए गए. लगातार अन्य पार्टियों खासकर भाजपा का विरोध करने वाले अरविन्द केजरीवाल को जब स्वयं विरोध झेलना पड़ा तो वो घाबरा गए. अपने गढ़ दिल्ली में भी उनका विरोध अब उग्र रूप लेने लगा है.

ये बात अब जनता के सामने स्पष्ट हो चुकी है कि केजरीवाल प्रधान मंत्री बनने कि अपनी महत्वाकांक्षा के कारन दिल्ली कि जनता अधर में लटका कर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। वाराणसी में भाजपा के प्रधान मंत्री पद के उम्मीदवार एवं   भारत के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी को चुनौती दे कर वे सस्ती लोकप्रियता हासिल करना चाहते थे. परन्तु वाराणसी जा कर वो समझ गए कि वहाँ जमाानत भी बचाना मुस्किल है. शायद उन्होंने सोच था कि विपक्ष उन्हें साझा उम्मीदवार बनाएगी परन्तु अब ये आशा भी धूमिल होने लगी है.

जिस कांग्रेस कि B टीम के रूप में वे काम कर रहे थे लगता है कि वो भी अब इनसे तंग आने लगी है. इसलिए अब वो भाजपा व मोदी का दामन चाहते हैं. लेकिन यहाँ भी ईमानदारी नहीं है भाजपा में प्रवेश के लिए उन्होंने शर्त रखी है कि मोदीजी गैस के दाम न बढ़ाने का आश्वासन दें. ये सभी जानते हैं कि नरेंद्र मोदी एवं भाजपा किसी भी जन विरोधी नीति का साथ नहीं देंगे। गैस के दाम कांग्रेस ने बढ़ाये थे परन्तु कोर्ट के आदेश के कारण उसे स्थगित करना पड़ा. इसमें मोदी जी क्या करेंगे?

केजरीवाल जी ने मोदी जी को बहस कि चुनौती दी थी परन्तु जब मैंने उन्हें खुली बहस कि चुनौती दी तब उन्होंने उसका कोई भी जवाब नहीं दिया। वे चुनौती देते हैं और फिर भाग खड़े होते हैं, चुनौतियों का सामना करने का साहस केजरीवाल में नहीं हैं और ये बात देश कि जनता जान चुकी है.

सत्ता के अपने लालच के कारण अब वे भाजपा में शामिल होना चाहते हैं क्यों कि अब उनकी सारी  गलतफहमियां दूर हो चुकी है एवं वे जान चुके है मोदीजी के नेतृत्व में भाजपा केंद्र में सरकार बनाने जा रही है।  ऐसी स्थिति में वे भाजपा में आने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं. परन्तु भाजपा एवं मोदी जी को ऐसे अवसरवादी नेताओं से सावधान रहना चाहिए।

Thanks,
Jyoti Kothari
 (Jyoti Kothari, Proprietor, Vardhaman Gems, Jaipur represents Centuries Old Tradition of Excellence in Gems and Jewelry. He is adviser, Vardhaman Infotech, a leading IT company in Jaipur. He is also ISO 9000 professional)

allvoices

No comments: